सुखनिधान/भंग पर ट्रैक्ट बाँटा

जैसा कि अमृतवल्ड डॉट कॉम ने ऐलान किया था, पंजाबी भाषा में एक ट्रैक्ट (“तख्त सचखण्ड श्री हजूर साहिब विखे सुखनिधान/भंग दा भोग”) पाठकों में, खास कर के छछरौली एवं कुछ और गाँवों में बाँटा गया है. इस पंजाबी लेख का इन्टरनेट रूप हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध है.

चाहे अभी पूरी फीडबैक आना बाक़ी है, ऐसा लगता है कि ट्रैक्ट बाँटने से गुरमति के सन्देश को फैलाने के हमारे मिशन को अच्छे परिणाम मिलेंगे. यह देखकर कि हमारे पास अभी इस ट्रैक्ट की कुछ प्रतियाँ बाक़ी बची हुयी हैं, हम अगले ट्रैक्ट के प्रकाशन में एक महीने का विलम्ब कर सकते हैं.

हम चाहेंगे कि कोई व्यक्ति छछरौली (जगाधरी के पास, हरियाणा) से हमारी टीम में हो, हालाँकि कुछ लोग हमारे सम्पर्क में हैं भी. हमारे सम्पर्क में बिलासपुर (कपालमोचन के पास, हरियाणा) से कोई नहीं है. हम चाहेंगे कि बिलासपुर से भी कोई हमारी टीम में हो.

हम रायपुर रानी (हरियाणा) के गुरसिखों को नहीं भूले हैं. निकट भविष्य में हम अपने ट्रैक्ट के साथ वहाँ भी पहुंचेंगे.