Home

कोई मेरे धर्म के लिये बुरे लफ़्ज़ बोल रहा है, तो क्या यह ज़रूरी है कि मैं भी उसके धर्म के लिये बुरे लफ़्ज़ बोलूँ? कोई मेरे इष्ट को गाली दे रहा है, तो क्या मुझे भी उसके इष्ट को गाली देनी चाहिये? क्योंकि कोई कुत्ता भोंक रहा है, तो क्या मुझे भी भोंकना ही चाहिये? – संतु न छाडै संतई.


Download our Punjabi e-book Samaadhi Baare, the first in the series of ‘Guhaj Katha‘.

‘ਗੁਹਜ ਕਥਾ’ ਲੜੀ ਵਿੱਚ ਸਾਡੀ ਪਹਿਲੀ ਪੰਜਾਬੀ ਈ-ਬੁੱਕ ‘ਸਮਾਧੀ ਬਾਰੇ’ ਡਾਊਨਲੋਡ ਕਰਨ ਲਈ ਕਿਰਪਾ ਕਰਕੇ ਇਸ ਲਿੰਕ’ਤੇ ਜਾਉ ਜੀ: – ਸਮਾਧੀ ਬਾਰੇ